खबरे सबसे तेज
Weather बारिश दे सकती है गर्मी से राहत

24 घंटों के दौरान प्रदेश के जबलपुर,सागर संभाग के जिलों में ज्यादातर स्थानो पर, साथ ही होशंगाबाद, इंदौर, भोपाल जिलों में कई स्थानों पर बारिश हुई। इसी के साथ अगले 24 घंटों के दौरान मौसम विभाग ने छतरपुर, सिवनी और छिंदवाड़ा में भारी बारिश की चेतावनी दी है।


 

मध्यप्रदेश का तापमान

भोपाल का अधिकतम तापमान 32.3 डिग्री सेल्सियस, इंदौर का अधिकतम तापमान 33.1 डिग्री सेल्सियस, ग्वालियर का अधिकतम तापमान 35.3 डिग्री सेल्सियस, जबलपुर का अधिकतम तापमान 30.9 डिग्री सेल्सियस रहा।


 

छत्तीसगढ़ का तापमान

रायपुर में अधिकतम तापमान 31.9 डिग्री सेल्सियस, बिलासपुर का 31.7 डिग्री सेल्सियस, जगदलपुर का 31.1 डिग्री सेल्सियस, अंबिकापुर का अधिकतम तापमान31.1 डिग्री सेल्सियस रहा।

और भी..
Today's Issue

देश मांगे इंसाफ, नहीं करेगा माफ ?

जम्मू कश्मीर में 18 जवानों की शहादत के बाद पाकिस्तान को लेकर हर जगह गुस्सा है। जहां शहीद परिवारों के साथ पूरा देश खड़ा दिखाई दे रहा है। वहीं ये सवाल भी सरगर्म है, कि क्या हमारे जवानों की कुर्बानियों का बदला लिया जाएगा ?



हमले के बाद से ही देशभर में पाकिस्तान की कारगुजारियों और नापाक हरकतों का विरोध हो रहा है। ज़ाहिर है, इसका असर दोनों मुल्कों के रिश्तों पर भी पड़ना ही है। हर कोई अपने अपने तरीके से पाकिस्तान पर गुस्से का इज़हार कर रहा है। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने पाकिस्तान के अभिनेताओं और कलाकारों को 48 घंटे के अंदर देश छोड़ने की चेतावनी दी है। वरना MNS कार्यकर्ता उन्हें धक्के मारकर बाहर निकाल देंगे। इससे पहले राज ठाकरे की MNS ने मुंबई में ग़ुलाम अली का कॉन्सर्ट भी नहीं होने दिया था। वैसे पाकिस्तान को लेकर तल्खी दिखाने में BCCI भी पीछे नहीं है। बीसीसीआई के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने कहा है, कि पाकिस्तान जैसे देश के साथ क्रिकेट खेलने का सवाल ही पैदा नहीं होता।



ज़ाहिर है, भारत चाहता है कि पाकिस्तान आतंकी देश घोषित हो और उसे अलग-थलग किया जाए। ताकि आतंकवाद को बढ़ावा देने की उसकी कोशिशों पर नकेल कसी जा सके। लेकिन रणनीतिक तौर पर भारत किस तरह आगे बढ़ रहा है, ये बड़ा सवाल है। देश का गुस्से में होना और सरकार का कदम उठाना, दोनों अलग अलग बातें हैं। यकीनन देश का दबाव है, कि सरकार पाकिस्तान को लेकर कड़ा कदम उठाए, लेकिन वो कड़े कदम क्या होंगे।



पिछली सरकार की बात क,रें तो यूपीए का ज़ोर बातचीत पर रहता था। नरेंद्र मोदी ने पीएम बनते ही पाकिस्तान को तवज्जो देने की हर मुमकिन कोशिश की, वो खुद नवाज शरीफ से मिलने भी गए। लेकिन नतीजा सामने है। पाकिस्तान की बदनीयती रह रहकर उजागर हो रही है। क्या अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत ठोस सबूतों के साथ पाकिस्तान को बेनकाब कर पाएगा और क्या ये एहसास करवा पाएगा, कि अपनी सरहद में घुसकर अपने ही जवानों को निशाना बनाकर पाकिस्तान ने बड़ी भूल की है ?

और भी..
आज का सवाल

नतीजा            पिछला सवाल

क्या सभी सरकारी अफ्सरों को मिलना चाहिए प्रोटेक्शन एक्ट का लाभ?


         

शेयर बाजार
Share Market BSE

Share Market NSE
मध्य प्रदेश
खबरें शहरो से
छत्तीसगढ़

Follow Us

       
विज्ञापन के लिए संपर्क करे