खबरे सबसे तेज
Weather क्या कहता है मौसम?

देवास में 8.2 सेमी दर्ज हुई बारिश

 

प्रदेश में फिर मानसून सक्रीय हो रहा है। शुक्रवार शनिवार को कई इलाकों में झमाझम बारिश आई। देवास जिले के टोनखुर्द में सबसे ज्यादा पानी बरसा। जो 8.2 सेमी दर्ज किया गया। उम्मीद जताई जा रही है कि दो दिन बाद राजधानी भोपाल में जोरदार बारिश होगी। मौसम विभाग के मुताबिक ऐसा सिस्टम बन रहा है।

और भी..
Today's Issue

"स्मार्ट" लोगों के स्मार्ट शहर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को पुणे स्मार्ट सिटी मिशन का आगाज़ किया। इसके साथ ही पहले चरण में देश के 20 शहरों को स्मार्ट बनाने की शुरुआत हो गई। इन शहरों में मध्य प्रदेश के इंदौर, भोपाल और जबलपुर भी शामिल हैं। इस मौके पर पीएम ने कहा कि देश की जनता सबसे ज्यादा स्मार्ट है और उसी ने स्मार्ट सिटी के लिए शहरों का चयन किया है। प्रधानमंत्री ने चयनित शहरों के लिए 69 योजनाओं की शुरुआत की।


बेतरतीबी से होते शहरीकरण और सुविधाओं के अभाव में शहरों की बिगड़ती शक्ल के बीच स्मार्ट सिटी का कॉन्सेप्ट मोदी सरकार के लिए किसी चुनौती से कम नहीं। पहले चरण में 20 शहरों के विशेष क्षेत्र को सुविधाओं से लैस कर मॉडल सिटी के तौर पर विकसित करना है। लेकिन इन क्षेत्रों का चुनाव कैसे होना है। अगर वहां पहले से लोग रह रहे हैं तो किस तरह पुनर्वास करना है। साथ ही किसी सरकारी योजना की बजाय इसे एक मिशन के तौर पर ले पाने में शहर कितने कामयाब हो पाते हैं। ये बड़ी चुनौती है। भोपाल के ही मामले में पहले शहर के शिवाजी नगर इलाके को स्मार्ट सिटी के लिए चुना गया। लेकिन जब यहां की हरियाली और लोगों के विस्थापन का रहवासियों ने विरोध किया तो स्मार्ट सिटी की साइट को बदलकर नॉर्थ टीटी नगर कर दिया गया। हालांकि विस्थापन को लेकर वहां भी शिकायतें बनी हुई हैं। इधर शहर के महापौर स्मार्ट सिटी बनाने के लिए सभी का सहयोग मांग रहे हैं।


इंदौर और जबलपुर की भी अपनी विशिष्ट बसाहट और बुनावट है। जहां एक खास हिस्से को स्मार्ट बनाना और फिर पूरे शहर के लिए नज़ीर पेश करना प्रशासन के लिए बड़ा टास्क है। पूरे देश में स्मार्ट सिटी के लिए सरकार ने नींव भी रख दी है। अब इंतजार नतीजों का है। उस पहली स्मार्ट बसाहट को आकार लेते देखने का, जो बदलते भारत की मिसाल तो रखेगी ही। साथ ही मोदी सरकार को भी अपनी पीठ थपथपाने का मौका देगी।

और भी..
आज का सवाल

नतीजा            पिछला सवाल

क्या आप मानते हैं कि केंद्र सरकार का डिफेंस और सिविल एविएशन समेत तमाम सेक्टरों में 100 फीसदी एफडीआई की मंजूरी का फैसला सही है?


         

हैल्थ इज़ वैल्थ
शेयर बाजार
Share Market BSE

Share Market NSE
मध्य प्रदेश
खबरें शहरो से
छत्तीसगढ़

Follow Us

       
विज्ञापन के लिए संपर्क करे